‘विश्व गुरू’, हमारे देश के बारे में अक्सर यह शब्द इस्तेमाल होता आया है। जब देखों तब यहीं सुनते हैं ‘भारत को फिर से विश्व गुरू बनाना है। लेकिन भैया 2020 में आपको यह नारा सुनने को नहीं मिलेगा। अब आप पूछेंगे कि क्यों? भारत तो अभी भी विश्वगुरू नहीं […]

साल था, 1975 जब भारतीय जनसंख्या इतनी अनियमित हो गई थी कि, देश में आपाताकाल लगने के बाद संजय गांधी के निर्देशों पर देश के लगभग 60 लाखों की जबरन नसबंदी कर दी गई और नतीजा ये रहा कि, कांग्रेस उसके बाद महज 154 सीटों पर ही सिमट कर रह […]