इस देश में माहवारी लंबे समय से एक टैबू बना हुआ है। हालांकि शहरी पढ़ी लिखी महिलाओं ने अब इसके ख़िलाफ़ मोर्चा खोल लिया है लेकिन ये घटना इस बात की तस्दीक करती हैं कि माहवारी से संबंधित भारत की ये समस्या अभी भी जारी है। एक तो हमारे देश […]