कचरा, मतलब जो चीज़ हमारे लिए बेकार हो जाती है वह कचरा हो जाती है। यानि कहें तो ‘The Thing Which is Not in Use’ लेकिन ऐसा नहीं है कि, जो चीज आपके यूज में नहीं हो वो किसी और के काम नहीं आ सकती। बिल्कुल आ सकती है। लेकिन […]

दिल्ली… एक ऐसा शहर, जिसमें अपना भविष्य तलाशते हर साल ना जाने कितने ही लोग अपने गांव की कच्ची गलियां छोड़कर यहां की सड़कों पर भटकने चले आते हैं। एक ऐसा शहर, जहां हर दिन कई सपनें लिए युवा कलाकार नुक्कड़ नाटकों के जरिए बेटी बचाओं, बेटी पढ़ाओं का संदेश […]