11 फरवरी, यूनाइटेड नेशन की ओर से ‘इंटरनेशनल डे ऑफ वुमेन एंड गर्ल्स इन साइंस’ के रुप में मनाया जाता है। इस दिन को सेलिब्रेट करने से मतलब यह है कि, महिलाओं की भागीदारी को साइंस के क्षेत्र में बढ़ाया जा सके। इस क्षेत्र में उनकी भागीदारी को लेकर जेंडर […]

नालंदा, भारत में क्या दुनिया में कोई ऐसा पढ़ा लिखा इंसान नहीं होगा जिसने इस नाम को नहीं सुना होगा। अगर हम हिस्ट्री ऑफ ऐजुकेशन की बात करें तो नालंदा इसका सबसे गोल्डन पिरियड है। जहां पूरी दुनिया का ज्ञान समाहित होता था। नालंदा भारत के इतिहास के गोल्डन पीरियड […]

कैंसर…. लाइलाज बीमारी, जिसका कोई इलाज नहीं है, खास तौर पर तब जब आप गरीब हैं या इस बीमारी के खर्चे उठाने के काबिल नहीं हैं। यहीं कारण है कि, ज्यादातर लोग जब कैंसर का नाम सुनते हैं और यह जानते हैं कि, उनका कोई अपना इस बीमारी की चपेट […]

प्राचीन भारतीय स्कूलों के बारे में बात करें तो इसमें टीचरों की ओर से बच्चों को दो तरह की टीचिंग मिलती है। पहला शास्त्र और दूसरा शस्त्र। माना जाता है कि, एक विद्यार्थी के लिए इन दोनों ही चीजों की नॉलेज होनी चाहिए। तभी वो अपनी जिंदगी में हर तरह […]