तुम आज पंद्रह दिन की हो गई हो. आज मैं तुम्हे पहली सीख दे रहा हूँ – प्रेम. तुम जीवन में भरपूर प्यार कमाना. अधिक से अधिक लोगों से प्रेम करना. एकदम किताबी प्यार करना. जैसा मैंने और तुम्हारी माँ ने किया है. हमें एक दूसरे को चाहते हुए बारह […]

‘अपने बच्चों के हर बोझ को अपने कंधे पर उठा लेता है, वो बाप है साहेब, बच्चों के लिए हर गम उठा लेता है।।’ ये शानदार लाइने किसी कवि ने लिखते समय पिता की उसके बच्चों के प्रति प्रेम का अनुभव किया होगा। शायद शायर का यह खुद का भी […]