सपनों अक्सर हर इंसान देखता है. लेकिन हमेशा खुद के देखे सपने पूरे हो जाएं जरूरी नहीं होता. ऐसी ही एक कहानी है केरल के कासरगोड़ जिले में मौजूद पनाथाड़ी गाँव की रहने वाली 42 साल की कुसुमवती कि, जिन्होंने एक सपना देखा था कि, वो बड़े होकर वो एक […]

हमारा देश हमेशा से ही कृषि के लिए जाना जाता है. जहाँ भारत की आधी से ज्यादा आबादी आज भी कृषि पर ही आश्रित है लेकिन इसके बावजूद भी किसानों को हमेशा से कृषि में घाटा सहना पड़ता है. जिसकी मुख्य वजह परंपरागत खेती को माना जाता है. ऐसा इसलिए […]

पिछले कुछ सालों से जिस तरह दुनिया पानी की किल्लत का सामना कर रही है। उससे ये साफ जाहिर होता है कि, आने वाले कुछ सालों में ये परिस्थितियां और भी ज्यादा बद्तर होने वाली है। हालांकि, बात अगर अपने देश की करें, तो हर छोटी से बड़ी संस्था लोगों […]