किसी भी इंसान के अंदर जब भी कोई शंका पनपने की शुरुवात करती है, वैसे-वैसे वो इंसान जासूस की बनने की राह में एक कदम आगे निकल आता है. क्योंकि वो जासूस ही होता है, जो किसी भी इंसान के अंतरव्दन्द को पहचान पाता है. क्योंकि एक जासूस अपने हुनर […]