मजदूरों के लिए सरदार ने कटवा दी अपनी पगड़ी

देश दुनिया से लेकर हर ओर आज के समय में बस एक ही शोर सुनाई दे रहा है. वो है कोरोना का, एक ऐसा लाइलाज़ बिमारी जिसने अभी तक न जानें कितने लोगों को काल के गाल में समा दिया है. साथ न जानें कितने लोगों को अब तक पीड़ित कर चुकी है. इस बीच जहाँ हमारे देश में लोगों को मुसीबत से बचाने के लिए हज़ारों लोग बाहर आए. वहीं ऐसे भी न जानें कितने लोग हैं जिन्होंने पूरे भारत का दिल जीत लिया.

ऐसे में न जाने कितने लोगों ने मजबूर इंसानों और मजदूरों को खाना खिलाया, तो न जानें कितने लोगों ने ही उन्हें उनके घर तक पहुंचने में मदद की…जिस दौरान पूरे देश में लॉकडाउन था. जिस दौरान बिना जरूरी किसी भी इंसान को घर से बाहर निकलने की इजाजत नहीं थी. उस दौरान एक सरदार ने एक ऐसा मिसाल पेश कि, की वो किसी रियल हीरो से कम नहीं है.

भारत में जिस तरह लॉकडाउन की शुरूवात हुई थी. जिस समय सभी दुकानें लगभग बंद हो चुकी थी. लोगों के बीच मास्क की कमी हो चली थी. उस समय एक सरदार जी ने अपनी 11 पगड़ियों के कपड़े काटवा कर मास्क बनवा दिए. ताकि जरूरतमंदों को मास्क बांट सके.  

 Sardar amarjeet singh, turban

अमरजीत सिंह ने बनवाए मास्क

मंडी जिले के सुंदरनगर के गाँव कनैड के रहने वाले अमरजीत सिंह ने जिस समय भारत में दर्जियों और कपड़े वालों की दुकान बंद थी. उस समय अपने यहाँ लोगों को मास्क मुहैया कराने के लिए अमरजीत सिंह ने अपनी 11 पगड़ियों मास्क बनाने के लिए दे दिया. ताकि लोगों को इस महामारी में बिना मास्क के ना रहना पड़े. इसके अलावा अमरजीत सिंह आज के समय में अपने जिले के रेडक्रास सोसायटी के सर्व वालंटियर हैं. यही वजह है कि, आज के समय में जिले भर में हर संभव मदद के लिए अमरजीत सिंह सबसे आगे रहते हैं.

 Sardar amarjeet singh, turban

सैनिटाइजर और मास्क पहुंचाते अमरजीत सिंह

हर इंसान आज के समय में जानता है कि, जिस समय देश में कोरोना वायरस और लॉकडाउन की शुरूवात हुई थी. उस समय देश भर में मास्क और सैनिटाइजर को लेकर लोगों ने काफी मुसबीतों का सामना किया था. जहां हर तरफ दुकानें बंद थी. वहीं गिनी चुनी दुकानों में मास्क और सैनिटाइजर के लिए लोगों को दुकानदारों को मुंह मांगा दाम देना पड़ रहा था. उस समय अमरजीत सिंह ने जहाँ अपनी 11 पगड़िया कटवा कर 1000 मास्क बनवा दिए. वहीं इन मास्क को जरूरतमंदों को भी पहुंचाया.

 Sardar amarjeet singh, turban

यहीं नहीं आज के भी समय में अमरजीत सिंह हर प्रवासी मजदूर से लेकर हर गरीब इंसान के लिए मास्क से लेकर सैनिटाइजर तक की व्यव्स्था कर रहे हैं. ताकि लोगों को कोरोना वायरस से बचाया जा सके. अमरजीत सिंह का मानना है कि, जब तक देश से कोरोना वायरस खत्म नहीं हो जाता. तब तक लोगों तक ये जरूरी चीजें पहुंचाने का उनका काम जारी रहेगा.

ताकि लोगों को इस मुश्किल वक्त में इस बीमारी से बचाया जा सके. क्योंकि आज जहाँ देशभर में अनलॉक शुरू हो चुका है. वहां कोरोना केस का दिनों दिन बढ़ना चिंता का विषय बन गया है. ऐसे में मास्क और सैनिटाइजर सबसे जरूरी है.

 जाहिर है अमरजीत सिंह जैसे लोगों की जिम्मेदाराना सोच और सच्ची भारतीयता के चलते, आज इस समय से कई लोग बच पाए हैं. वहीं ऐसे भी न जानें कितने लोग हैं जो इस मुश्किल दौर में मजदूरों से लेकर गरीबों को खाना खिला रहे हैं.

Indian

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

हमारे देश का नाम भारत है, लेकिन इसका इतिहास क्या है?

Sun Jun 7 , 2020
Share on Facebook Tweet it Pin it Email हमारे देश का नाम क्या है? हिंदी में इस सवाल का जवाब है भारत और यही सवाल अंग्रेजी में होगा तो हम भारत की जगह इंडिया नाम बताते देखे जाएंगे। शुरू से  यही पढ़ाया गया है। भारत को अंग्रेजी में इंडिया कहते […]
भारत इंडिया