Momos Wali Madam, मोमोज बेचकर बनी करोड़पति

जब कभी खाने की बात होती है तो, हर इंसान के दिमाग में चटपटा मसालेदार खाने का ही ध्यान आता है और अगर आप किसी शहर में हो तो, बात ही अलग है। क्योंकि आज के समय में लोग मसालेदार खाने के साथ-साथ चाइनीज फूड के भी दीवाने हो गए हैं। शायद यही वजह है कि, आज ये बिजनेस भी काफी बड़ा हो चला है। कुछ इसी तरह ही दिल्ली में जहां एक तरफ मोमोज से लेकर चाउमीन ने लोगों को अपनी जकड़ में ले लिया है। वहीं इसी को बनाने वाले आज करोड़ों के मालिक हो चले हैं।

शाम को जब भी मोमोज खाने होते है, तो हर किसी को अपना सबसे करीबी मोमोज कॉर्नर ही दिखाई देता है, लेकिन क्या आपको मालूम है। इतने सारे मोमोज आखिर बनते कहां हैं अगर नहीं तो किस्सा बस इतना सा है कि, दिल्ली की रहने वाली हैं पूजा महाजन, जिन्हें लोग ‘मोमोज वाली मैडम’ कहते हैं।

Momos Wali Madam हैं यूनिटा फूड्स की डायरेक्टर

दरअसल, पूजा का कोई छोटा-मोटा मोमोज कॉर्नर या दुकान नहीं है। बल्कि पूजा तो एक बहुत बड़ी मोमोज फैकट्री ‘यूनिटा फूड्स’ की डायरेक्टर हैं। आज पूजा की फैक्ट्री में 10 से 12 लाख मोमोज बनाए जाते हैं। यहीं नहीं पूजा की इस फैक्ट्री में वेज-नॉन वेज मोमोज, इडली, बटाटा वड़ा, समोसा, स्प्रिंग रोल्स और न जानें क्या-क्या बनाया जाता है। तो वहीं पूजा अपने घर की पहली ऐसी महिला भी हैं, जो एक उद्यमी हैं।

यही वजह है कि, अपनी मेहनत से करोड़ों का बिजनेस करने वाली पूजा महाजन आज ‘मोमोज वाली मैडम’ बन गई हैं। पूजा ने स्कूल से अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद 1998 में कॉरपोरेट वर्ल्ड में जॉब करने की शुरूआत की और यही समय था जब उन्होंने खुद का बिजनेस करने का संकल्प लिया था। जिसके बाद कुछ समय तक नौकरी करने के बाद पूजा ने नौकरी छोड़कर गुड़गांव के डीएलएफ मॉल में बॉम्बे चौपाटी नाम से एक रेस्त्रां की शुरूआत की।

इसी दौरान उन्होंने बॉम्बे के ट्रॉली बिजनेस ‘सिड फ्रैंकी’ में अपना पैसा लगाया। और बस यहीं से हुई पूजा के बिजनेस की असल शुरूआत। दरअसल, इसी के बाद से पूजा के बिजनेस ने अपनी रफ्तार पकड़ी और उन्होंने मोमोज ट्रॉली शुरू कर दी।

ये एक ऐसा समय था, जब पूजा ने साल 2008 में सरकार से लोन लिया था। लोन लेने के बाद पूजा ने दिल्ली के घिटोरनी के ताइवान में इंपोर्ट मशीन लेकर खुद की मोमोज फ्रैक्ट्री लगाई। साथ ही कोल्ड रूम भी बनवाया। जिसमें हजारों मोमोज बनाने की शुरूआत की गई. जिसके साथ-साथ पूजा ने अपने मोमोज की सप्लाई सिनेमा हॉल, मल्टीप्लेक्सेस, होटल, रेस्त्रां, कॉफी चेन से लेकर बैक्विंट तक में अपने मोमोज भेजना शुरू किया जिसके बाद से आज का दिन है कि,  पूजा यूनिटा फूड्स की डायरेक्टर बन गई हैं।

puja mahajan, momos wali madam

Momos Wali Madam- आज अपने बलबूते पर एक टीम खड़ी कर चुकी हैं पूजा

पूजा कहती है कि, आज भी उनके पास लॉजिस्टिक सपोर्ट नहीं है। लेकिन धीरे-धीरे ही सही वो अपनी मेहनत के साथ अपनी सफलता को विकसित कर रही हैं। साथ ही वो बताती हैं कि, हमारे परिवार में वो पहली ऐसी महिला हैं। जिसने बिजनेस की दुनिया में कदम रखा। उन्होंने बहुत सारी कंपनियों में जॉब की, लेकिन कहीं मन नहीं लगा। यहीं नहीं वो कहती हैं कि, एक समय था जब मैंने गुड़गांव में मोमोज की ट्रॉली की शुरूआत तो कर दी थी, लेकिन मुझे मोमोज सप्लाई करना भी नहीं आता था। मगर वक्त के साथ धीरे-धीरे सब कुछ हुआ।

तो वहीं पूजा बताती हैं कि, जब उन्होंने घिटोरनी में अपना काम करना शुरू किया था तो मोमोज कारोबार में भी उनका कोई व्यवस्थित कारोबारी नहीं था। यही वजह थी कि, शुरूआती समय में इसमें काफी परेशानियां आई। साथ में कोई मुझे गाइड करने वाला नहीं था। लेकिन आज के समय में मेरे पास दो दर्जन से ज्यादा की टीम है। जोकि मेरी सफलता में बराबर के साझीदार हैं।

भले ही पूजा के साथ शुरूआती समय में कोई नहीं था, जो उनके इस बिजनेस में उनका सहयोग कर सके। मगर अपने बलबूते पर ही पूजा ने आज पूरे देश में अपने मोमोज की अलग पहचान बना ली है।

Indian

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

बैंगलुरू को Pond Hub बना रही है ऊषा राजागोपालन

Thu Nov 7 , 2019
Share on Facebook Tweet it Pin it Email बैंगलोर का नाम सुने हैं,  जी उसी शहर के बारे में बात कर रह हैं जहां भारत के आईटी इंडस्ट्री का गढ़ है, जिसे भारत का सीलिकॉन वैली कहा जाता है। जितनी तेजी से बैंगलोर का विकास हुआ शायद ही किसी और […]
Usha Rajagopalan