Kanatal : खूबसूरत वादियों में फ़िल्मी लोकेशन के साथ लें पहाड़ी ज़िंदगी का मज़ा

आप और हम जब भी अपनी छुट्टियां प्लान करते हैं तो सबसे पहला ख़याल आता है पहाड़ों का कि बस हम जल्दी से पहाड़ों पर पहुंच जाए। पहाड़ों की ठंडी हवा को आंखे बंद कर महसूस करें। गाड़ी से हाथ बाहर निकालकर हलकी हलकी पानी की बौछारों को छुएं। होटल ऐसा हो जहां की खिड़की से उड़ते हुए बादल दिखें दूर दूर तक बस पहाड़ ही पहाड़ हों। शहर और गाड़ियों के शोर से दूर बस चिड़ियों की आवाज़ हो या बहते पानी का वो मीठा सा शोर हो। इन्ही सब कल्पनाओं में डूबे हुए जब हम सोचते हैं कि लेकिन जाएं कहां तो बस वही चार या 6 नाम ही याद आते हैं। कुल्लू मनाली नैनीताल या फिर शिमला और इन जगहों पर भी हम अपनी सहूलियत के हिसाब से होटल खोजते हैं जो हमें हर घूमने वाली जगह से पास पड़े। फिर ऐसी जगहों पर पहुँचने हम भीड़ भाड़ वाली जगह पर होटल में रुकते हैं सुबह जल्दी जल्दी तैयार होकर घूमने निकल जाते हैं ये लिस्ट बनाकर कि आज हमें कितनी जगह घूमनी है। फिर लोगों की भीड़ गाड़ियों के शोर और सेल्फी के दिखावे के बीच हम गिनी चुनी जगह देखकर बस दो दिन में वापस हो लेते हैं अपने घर की तरफ़ ! तो क्या हम वो सब कर पाते हैं जो हमने सोचा होता है शायद नहीं मेरे हिसाब से तो बिलकुल भी नहीं इसलिए अब मैं भी जब कभी पहाड़ों पर वेकेशन प्लान करती हूँ तो हमेशा ऑफ बीट जगह की तलाश करती हूँ जहां मैं सुकून से दो दिन पहाड़ों में ठंडी हवा के बीच गुज़ार सकूं। इसलिए आज मैं कुछ गिनी चुनी ऑफ बीट जगहों में से एक जगह के बारे में आपको बता रही हूँ जहां जाकर आप अपने सपने को जी सकते हैं। इस खूबसूरत जगह का नाम है करताल। जो उत्तराखंड में है ये जगह बिलकुल ऑफ बीट है मतलब यहां ना तो भीड़ भाड़ है ना गाड़ियों का जाम और ना ही हर दूसरे कदम पर बने बड़े बड़े होटल है। मतलब ये कि पहाड़ों की तलहटियों में बसा ये ऐसा हिल स्टेशन है जहां आप शहर की भीड़-भाड़ से दूर परिवार और दोस्तों के साथ कुछ खास पल बिता सकते हैं।

Kanatal

Kanatal : भीड़ भाड़ वाली जगहों से बिलकुल अलग जगह है

पहाड़ों की ठंडी वादियों में बसी कनातल एक ऐसी जगह है जिसकी खूबसूरती आपका मन मोह लेगी। इस जगह का शांत और सुरम्य वातावरण आपको ये जगह घूमने के लिए मजबूर कर देगा। शहर के शोर-शराबे से दूर परिवार के साथ सुकून के कुछ पल बिताने के लिए ये जगह सबसे बेहतर है। सबसे अच्छी बात ये है कि शहर की चहल पहल से दूर इस जगह आप छुट्टियां मनाने कभी भी जा सकते हैं क्योंकि ये जगह हर महीने घूमने के लिए एकदम परफेक्ट है। यहां का सुरकंडा देवी मंदिर अपने आप में अनूठा है। ऐसा माना जाता है कि जब भगवान शिव हिंदू देवी सती के शरीर को कैलाश पर्वत लेकर जा रहे थे, उस वक्त इसी स्थान पर देवी का सिर गिरा था, जिस वजह से मंदिर को देखने के लिए लोग काफ़ी एक्ससाइटेड दिखते हैं। यही नहीं अगर आप सुकून भरे पल से हटकर थोड़ा सा घूमना भी चाहते हैं तो आप कानाताल के पास बने देश के सबसे ऊंचे बाँध की सैर भी कर सकते हैं।

Kanatal

Kanatal : सिर्फ शांति ही नहीं, एडवेंचर पसंद लोगों के लिए भी है बहुत कुछ

ट्रैकिंग और कैंपिंग पसंद लोगों के लिए भी ये जगह काफ़ी मज़ेदार है तो आप भी यहां अपने परिवार और दोस्तों के साथ कैंपिंग का लुत्फ उठा सकते हैं। बहुत सी निजी कंपनियां यहां कैंपिंग और ट्रैकिंग के लिए अच्छे ऑफर्स देतीं हैं। रोमांच से भरपूर ये ट्रैकिंग आपकी ट्रिप को और भी यादगार बना देगी। ट्रैकिंग के दौरान आप हरी-भरी घाटियों और बर्फीले पहाड़ों को देखने का आनंद उठा सकते हैं। इसके अलावा यहां रोप क्लाइम्बिंग जैसे एडवेंचर का भी आप मजा उठा सकते हैं।

Kanatal

अगर आप कनातल जा ही रहे हैं तो जंगल सफारी को एन्जॉय करना भी फिर मत भूलिएगा। क्योंकि रोमांच से भरपूर वाइल्ड-लाइफ को देखने का यहां अपना एक अलग ही मजा है। तो है ना ये एक मज़ेदार जगह जहां अगर आप चाहे सुकून के कुछ पल बिताना तो वो भी आप कर सकते हैं और अगर आपकी फैमिली या फ्रेंड्स में से कोई एडवेंचर का मज़ा लेना चाहता है तो उसके लिए भी ये जगह एक दम परफेक्ट है। तो अगर आप क्राउड वाली जगह से बचकर एक दम शांत खूबसूरत जगह जाना चाहते हैं तो ये ऑफ बीट जगह आपके लिए बिलकुल बेस्ट है। आपको हमारा आर्टिकल कैसा लगा हमें कमेंट कर के जरूर बताएं।

Indian

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

Hauz Khas Village : एक तबेले वाला गांव कैसे बन गया दिल्ली का सबसे बड़ा पार्टी हब ?

Thu Aug 22 , 2019
Share on Facebook Tweet it Pin it Email हौज़ ख़ास विलेज नाम सुनते ही सबसे पहले दिमाग में क्या आता है ? भाई आप दिल्ली वाले हैं तो बस हौज़ ख़ास का नाम सुनते ही पार्टी करने का मन करता है। एक ऐसी जगह जहां कि सड़क आपको दिल्ली या […]
Hauz Khas Village : एक तबेले वाला गांव कैसे बन गया दिल्ली का सबसे बड़ा पार्टी हब ?