दुनिया में जहाँ कोरोना वायरस धीरे-धीरे अपने रफ्तार पर ब्रेक लगा रहा है. वहीं भारत में इन दिनों इस वायरस का प्रकोप बढ़ता ही जा रहा है. जिसके चलते न जाने अब तक कितने लोग जान गवां चुके हैं. साथ ही देशभर में कोरोना वायरस के मरीज़ों की संख्या इस […]

मखाना…. बिहार के मिथिलांचल की अनेक पहचानों में से यह भी एक है। झील या नदी के पास मौजूद वेटलैंड्स में आमतौर पर इसकी खेती होती है। बिहार में आज कल मखाना को लेकर एक अलग क्रांति सी आईं हुई है, कई किसानों ने पारंपरिक खेती को छोड़ कर अब […]

हमारे देश की अगर बात करें तो, हमारा देश हमेशा से कृषि प्रधान देश रहा है. जहाँ खेती की बदौलत देश में मौजूद इतनी बड़ी जनसंख्या का पेट हम भर पाते हैं. और इसका सारा श्रेय हमारे देश के उन किसानों को जाता है. जो दिन रात खेतों में मेहनत […]

योगी, संत, बाबा, ऋषि आदि जैसे शब्द सुनने या पढ़ने हमारे मन में एक धार्मिक और तपस्वी टाइप इंसान की छवि उभर कर सामने आती है। लेकिन उनकी छवि के संग हीं कई सारी और विशिष्ठ बातें जुड़ी होती है। ऐसे हीं एक बाबा गुजरात में रहा करते थे बाबा […]

हर साल जब ईद आती है तो, मेरा मन मेरी उस पहली नमाज़ को याद करता है. जो मैंने ईद के दिन इंसानों के एक ऐसे हुजूम के बीच पढ़ी थी. जो कौमी तौर पर मुझसे अलग थे, उनका मजहब इस्लाम, जिन्हेx दुनिया मुस्लिम या मुसलमान कहती है. मै ब्राह्मण […]

बांग्ला कहानियों और इस भाषा के साहित्य से अगर आप परिचित हैं, तो ठीक है लेकिन नहीं हैं, तो फिर ‘फेलूदा’ को आप नहीं जानते होंगे। बंगाली भाषा वाले समझ गए होंगे कि, फेलूदा कौन है। खैर, गैर-बांग्ला भाषी निराश ना हों क्योंकि वो एक नाम तो जानते ही होंगे […]

आज कोरोना का खौंफ के साथ साथ भुखमरी का खौंफ ही है कि, पूरे भारत में हजारों की संख्या में मजदूर वर्ग सड़कों पर है. क्योंकि उन्हें किसी भी तरह से अपने घर जाना है. शायद जिसकी वजह ये है कि, लॉकडाउन में सरकारों ने मजदूरों और गरीबों का उस […]

कोरोना संक्रमण के कारण दुनिया की आधी से ज्यादा आबादी अपने घरों में कैद है। लगातार दुनिया में बढ़ते और फैलते इस बीमारी के कारण बड़े बड़े देशों की अर्थव्यवस्था बे पटरी हो गई है। पूरी दुनिया में  44 लाख से ज्यादा लोग इस वायरस से संक्रमित हैं, जिनमें से […]

हमारे भारत की अगर बात करें तो, हमारे यहाँ वैदिक काल की बातें शायद सबसे ज्यादा होती है. और यही नहीं हमारे यहाँ वैदिक चीजों की अहमियत भी काफी हद तक दी जाती है. हालांकि हाल ही के कुछ दशकों में हमने अपने पुरानी चीजों पर कम जोर देकर नया […]

देश में इस समय कोरोना वायरस का प्रकोप हर तरफ है. यही वजह है कि, देश में आए दिन मामले बढ़ते जा रहे हैं. जिससे पूरे देश में इस वायरस का प्रकोप रुकने का नाम नहीं ले रहा है. उसके बावजूद भी सरकारें और कोरोना वार्रियर्स सभी इससे ड़ट कर […]