भोपाल में आज भी रानी कमलापति के वीरता के किस्सों की अक्सर चर्चाएं होती हैं। सिर्फ वीरता ही नहीं बल्कि उनकी खूबसूरती भी ऐसी थी कि हर कोई बस देखता रह जाए। फिल्म पद्मावत तो आपने देखी होगी जिसमें खिलजी रानी पद्मावती की खूबसूरती का दीवाना हो गया था और […]

भारत में चाय का चलन और इसका क्रेज आज भी है. लेकिन एक क्लास सोसायटी में शामिल होने की होड़ में अब लोग कॉफी की ओर मुड़ने लगे हैं। हम भारतीयों की एक आदत है “देखा—देखी — खेता—खेती” मतलब की भैया अगर सामने वाला चाय के बदले कॉफी पी रहा है तो हम भी कॉफी ही आडर्र […]

भारत इंजीनियरिंग और आईटी के क्षेत्र में दुनिया का अग्रणी देश माना जाता है। भारत में बहुत सारे इंजीनियरिंग कॉलेज हैं और इंजीनियरिंग के बहुत सारे कोर्स भी हैं। किसी भी देश को विकसित बनाने में इंजीनियर्स की मुख्य भूमिका रहती है। इंजीनियर्स को आधुनिक समाज की रीढ़ माना जाता […]

हम सभी हमेशा से टेलीविजन देखने के शौकीन रहे हैं. भले ही बदलती दुनिया के बीच टेलीविजन का आकार बदल गया हो. हम सभी की कई यादें भी उस दशक से जुड़ी हुई हैं. जिस समय टेलीविजन Black & White के दौर से निकलकर रंगीन की दुनिया में आ रहा […]

सफलता कहीं जमीन में दफ्न नहीं होती. ऐसा भी नहीं होता कि, पलभर में आप सफलता के मुकाम को पा लें. जब कभी हम कुछ अलग करने की कोशिश करते हैं तो, हमें हज़ारों दुश्वारियां रोकती हैं. कई बार ऐसा होता है कि, परिस्थितियां हमारे विपरीत होती हैं. लेकिन इन […]

सरकार की गलत नीतियों और सरकार की वजहों से ही किसान कर्जदार है….शुद्ध और ठेट लहजे में ऐसा बोलने वाले बाबा को कौन नहीं जानता. किसानों का मसीहा, एक ऐसा किसान जिसने देश में किसानों के आंदोलन की पूरी नींव बदल दी… चलिए आज हम आपको भारतीय इतिहास के उस […]

जब भी देश में कोई किसान नेता या किसानों का समूह आंदोलन की बात करते हैं तो, उनकी मांग होती है. स्वामिनाथन कमेटी की रिपोर्ट को किसानों की खातिर लागू किया जाए. ऐसे में अनेकों बार अब तक इस मांग को लेकर किसान आंदोलन कर चुके हैं. सड़कों पर उतर […]

गौहर यानि की मोती. मोती की चमक हमेशा इंसान को लुभाती रही है. ऐसे में हर महफ़िल से लेकर शादी में भी दुल्हनों की चमका इन्हीं से बनती है. यही वजह है कि. आज हम आपको ठीक उसी तरह चमकने वाली भारत की ‘पहली रिकॉर्डिंग सुपरस्टार गौहर जान’ के बारे […]

नक्सल, नक्सलवादी, नक्सलिज्म जब भी इन शब्दों का जिक्र कहीं भी होता है तो हमारी आंखों के सामने खून से सनी लाश, गोला-बारूद, कंधे पर बंदूक टांगे लोग आ जाते हैं. हो भी क्यों न, आज के इतने साल बाद भी हमने यही देखा है. आजादी के आज इतने साल […]

48वां ओवर और नुवान कुलासेकरा के हाथ में गेंद, चलिए हम आपको आज से ठीक दस साल पीछे ले चलते हैं. जहाँ मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में भारत और श्रीलंका के बीच World Cup Finale का मुकाबला हो रहा है. 48वां ओवर नुवान कुलासेकरा फेंक रहे हैं. भारत को 12 […]