Batwoman जम्मू-कश्मीर में तनाव के ‘चौके-छक्के’ उड़ाती ‘बैटवुमन’

ये तो आप भी जानते ही होंगे कि कश्मीर के इस वक़्त क्या हालात हैं। ऊपर से महिलाएं दोहरी बंदिशे झेल रही हैं घर में भी और बाहर भी। तो कश्मीर में ऐसे हालातों में भी हार ना मानकर कश्मीर की रिफत मसूदी अपनी बैट से हौसलों की उड़ान भर रही हैं। क्रिकेट बैट बनाने वाली पहली महिला हैं रिफत। 1999 से शुरू हुआ उनका ये सफर आज आसमान छू रहा है। इनकी कहानी की शुरुआत तब हुई जब अटल बिहारी वाजपेयी बस से पाकिस्तान गए थे।

Batwoman

Batwoman भारत की एकलौती ‘बैटवुमन’ हैं रिफत मसूदी..

उस वक़्त अटल बिहारी वाजपेयी के कश्मीर में शांति लाने की कोशिशों की वजह से कश्मीर में शांति का माहौल शुरू हुआ। देशभर के लोग कश्मीरी सामानों में दिलचस्पी लेने लगे। फिर रिफत के ससुर ने इस बिजनेस की शुरुआत की थी। मगर 1990 में विद्रोह के कारण बिजनेस को नुकसान पहुंचने लगा और उनकी जगह जालंधर में बैट बनाने वालों की चांदी होने लगी। मगर रिफत ने हार नहीं मानी और 21 साल पहले 1999 में रिफत ने फिर से बिजनेस शुरू किया। रिफत ने खरीददारों से संपर्क किया जिन्हें कश्मीरी बैट्स में दिलचस्पी थी।

Batwoman

Batwoman भारत की इकलौती महिला जो बैट बनाती है

कश्मीर में तब क्या आज भी बिजनेस करना आसान नहीं है खासकर महिलाओं के लिए। रिफत ने जब इसकी शुरूआत की तब उन्हें बहुत से विरोध का सामना करना पड़ा। लेकिन उनके पति ने उनका साथ नहीं छोड़ा और एक लड़की होकर वो पुरुषों के खेल के लिए बल्ला बनाने लग गईं। एक तरफ जहां धर्म के नाम पर कुछ लोग दो समुदायों को बांटते फिरते हैं तो वहीं रिफत का सपना है कि उनकी इंडियन टीम भी उनके बैट से ही खेले।

Batwoman

Batwoman देशभर में बिकते हैं रिफत मसूदी के बैट

जब भी हम कश्मीर के बारे में कुछ देखते या सुनते हैं तो लगता है कि कश्मीर में महिलाओं को क्या उतनी फ्रीडम होगी जितनी हमें और आपको है क्या कश्मीर में महिलाएं काम कर सकती हैं ऐसे तमाम सवाल हमारे ज़हन में आते हैं। मगर इन्ही सब सवालों का जवाब दिया है लोगों को फिरत ने जो अपने वादी की एकलौती ‘बैटवुमन’ हैं।

Batwoman

जिनेक ना सिर्फ बैट देशभर में बिकते हैं बल्कि वो देशभर के लोगों को एक मेसेज भी देती हैं कि अगर आप सच्चे मन से कोई काम करना चाहते हैं तो वाकई आपको कामयाब होने से कोई नहीं रोक सकता।

Indian

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

गणेश चतुर्थी बनी थी, आजादी की नींव!

Mon Sep 2 , 2019
Share on Facebook Tweet it Pin it Email आज गणेशोत्सव है। यानी गण्पति पप्पा का आगमन हुआ है। महाराष्ट्र सहित पूरे भारत में आज गौरी पुत्र गणेश की अराधना करते हुए लोग खुशी मना रहे हैं, नाच गा रहे है ओर झूम रहे हैं। लेकिन क्या आपको पता है कि […]
गणेश चतुर्थी