एक हादसे ने जैसन को बनाया गणित का विशेषज्ञ

क्या आप जानते हैं कि पूरी दुनिया में हर साल 69 मिलियन लोग सर में चोट लगने से ट्रॉमैटिक ब्रेन इंजरी (टीबीआई) यानी गंभीर दिमागी चोट के शिकार होते हैं। इन चोटों के कारण मरने या बीमार होने वाले व्यक्तियों के बारे में तो सबने सुना और देखा होगा, लेकिन एक इंसान ऐसा भी है जो सिर में एक गंभीर चोट लगने के बाद रातों-रात मैथ का जिनियस बन गया।

Jason Padgett –  सिर में लगी गंभीर चोट ने जैसन को दिया दूसरा जन्म

सुनने में ये कहानी बिल्कुल फिल्मी हो सकती है लेकिन वॉशिंगटन में घटित हुई ये सच्ची कहानी अपने आप में अनोखी है। ये कहानी 49 साल के जैसन पैजेट की है जो अपने पिता के साथ फर्निचर की दुकान में काम करते हैं। एक रात हुए हादसे ने जैसन की पूरी जिंदगी ही बदल डाली।

12 सितंबर 2002 की रात जैसन अपने दोस्तों के साथ टैकोमा के एक बार में बैठे थे। उन्होंने एक मेंहगी लैदर की जैकेट पहनी हुई थी। जिसे वहां ख़डे दो गुंडे ने चोरी करने का प्लैन बना लिया। जैसन की जैकेट पाने के लिए गुंडो ने उनके सिर पर लगातार घूसे मारना शुरू कर दिया। इस मारपीट में जैसन बुरी तरह घायल हो गए। वो गंभीर दिमागी रोग टी बी आई के शिकार हो गए। एक लंबे इलाज के बाद जैसन पैजेट बड़ी मुश्किल से मौत के मुंह से वापस निकले।

इस हादसे के बाद जैसन का दूसरा जन्म हुआ। अब जैसन पूरी तरह बदल चुके थे। अपनी चोटों से उभरने के दौरान जैसन को मैथ्स और फिजिक्स से प्यार हो गया। पढ़ाई में हमेशा से फेल होने वाले जैसन को अब हर जगह आइंस्टाइन की रिलेटिव थ्योरी, पाई के फार्मूले, नंबर्स, फ्यूजन, और फिजिक्स के ज्योमैट्रिक आकार देखने लगे।

जिस जैसन को नालायक होने की वजह से कॉलेज से निकाल दिया गया था, अब वही जैसन पूरा दिन एक कमरे में बंद होकर मैत्थस की प्रॉब्लम सोल्व करने लग गए। इतना ही नहीं चित्रकारी से दूर दूर तक कोई वास्ता ना रखने वाले जैसन अब कई हफ्तों तक पेंटिग्स बनाने में खुद को बिजी रखने लगे।

Jason Padgett –  सेवेंट सिंड्रोम बीमारी से जीनियस बने जैसन

अपने पिता के साथ काम और दोस्तों के साथ घूमना फिरना छोड़ कर उन्होंने कम्युनिटी कॉलेज में एडमिशन ले लिया है और इस तरह महान गणितज्ञ बनने के बाद जैसन ने स्ट्रोक बाई जीनियस: हाउ ए ब्रेन इंजरी मेड मी ए मैथमेटिकल मार्वल नाम की किताब भी लिखी, जिसमें उन्होनें अपने सारे अनुभव बताए हैं।

अब आप सोच रहे होंगे कि अखिर दिमाग में चोट लगने पर कोई इतना क्रिएटिव कैसे बन सकता है। जानकारी के लिए बता दें कि जैसन की मेडिकल जांच से पता चला है कि वो सेवेंट सिंड्रोम नाम की बीमारी से ग्रसित हैं। पूरी दुनिया में अब तक सिर्फ 40 लोग ही इस बीमारी का शिकार हुए हैं। इस बीमारी के कारण दिमाग के सैंसेस बिगड़ जाते हैं। इस सिंड्रोम के कारण ब्रैन सर्जरी के बाद कोई भी इंसान मैथ,  आर्टस या म्यूजिक में माहिर हो जाता है।

Indian

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

बेजुबानों के लिए आशियाना बना रहे एनिमल लवर्स, 17 साल पहले शुरू की थी छोटी सी कोशिश!

Mon Jul 15 , 2019
Share on Facebook Tweet it Pin it Email चाहे बात शहरों की करें या फिर गांवों की आवारा जानवरों की मुसीबत से रूबरू हर इंसान होता है. लेकिन क्या कभी हमने सोचा कि, जिन जानवरों को हम आवारा जैसा नाम देते हैं. जिन जानवरों को हम यूं ही सड़को गली-मोहल्लों […]
नन्दनी कक्कड़